समर्थक

शुक्रवार, 25 नवंबर 2011

धरती से दूर जिंदगी की संभावना?


दूसरे ग्रहों पर जीवन की संभावनाओं पर काम कर रहे वैज्ञानिकों ने एक सूची तैयार की है कि किन ग्रहों और किन चंद्रमाओं पर जीवन के लिए मददगार माहौल होने की संभावना सबसे ज्यादा है इस लिस्ट के मुताबिक हमारे सौरमंडल के शनि ग्रह का चंद्रमा टाइटन और हमारे सौर मंडल से बाहर का एक ग्रह 'ग्लीज़ 581जी' में जीवन के किसी स्वरूप के मौजूद होने या फिर जीवन के फलने-फूलने के लिए मददगार माहौल के होने की संभावना सबसे ज्यादा हो सकती है।
वैज्ञानिकों की एक अंतरराष्ट्रीय टीम ने दूसरे ग्रहों में जीवन की संभावना के लिए दो तरह की सूची तैयार की है। एक सूची उन ग्रहों और चंद्रमाओं की है जो भौगोलिक रूप से पृथ्वी जैसे हैं इसे 'अर्थ सिमिलरिटी इंडेक्स (ईएसआई)' का नाम दिया गया। दूसरी सूची उन ग्रहों-चंद्रमाओं की है जहां जीवन पनपने की संभावना सबसे ज्यादा है, इसे 'प्लैनेटरी हैबिटैबिलिटी इंडेक्स (पीएचआई)' का नाम दिया गया है। ये रिसर्च पेपर एस्ट्रोबायोलॉजी के एक जर्नल में प्रकाशित हुआ है।
इस शोधपत्र के सहलेखक, अमेरिका की वॉशिंगटन स्टेट यूनिवर्सिटी के डॉ डिर्क शुल्ज़ माकश कहते हैं, "चूंकि हम अपने अनुभवों से जानते हैं कि पृथ्वी जैसी परिस्थितियां हों तो वहां जीवन पनप सकता है, इसलिए पहला सवाल ये था कि क्या किसी और दुनिया में पृथ्वी जैसी परिस्थितियां हैं?"
डॉ.शुल्ज कहते हैं, "दूसरा सवाल ये था कि किसी और सौरमंडल में क्या कोई ऐसा ग्रह है जहां ऐसा मौसम है कि वहाँ किसी और रूप में जीवन पनप सकता है, चाहे उसकी जानकारी हमें हो या हो।" लिस्ट की पहली श्रेणी ईएसआई में उन ग्रहों को रखा गया जो पृथ्वी की तरह हैं, इसमें उनके आकार, घनत्व और अपने सितारे से उनकी दूरी को ध्यान में रखा गया। जबकि दूसरी सूची यानी पीएचआई में दूसरे पैमाने रखे गए, जैसे कि उस दुनिया का मौसम कैसा है? उसकी सतह चट्टानी है या बर्फ़ीली? वहां वायुमंडल है या चुंबकीय क्षेत्र? वैज्ञानिकों ने अपने शोध में ये भी अध्ययन किया कि क्या उस ग्रह या चंद्रमा में कोई कार्बनिक यौगिक पदार्थ मौजूद है या कोई ऐसा तरल पदार्थ मौजूद है जो व्यापक रासायनिक क्रिया करने में सक्षम हो?
ईएसआई यानी पृथ्वी से समानता वाली सूची में सबसे अधिक अंक 1.00 दिया गया, जो कि ज़ाहिर तौर पर पृथ्वी के लिए था लेकिन दूसरे नंबर पर ग्लीज़ 581जी आया जिसे 0.89 अंक मिले। इसके बाद इससे मिलता जुलता ही एक ग्रह ग्लीज़ 581डी आया जिसे 0.74 अंक मिले। ये दुनिया हमारी धरती से करीब 20.5 प्रकाश वर्ष दूर है। हमारे अपने सौर मंडल में जिन ग्रहों को सबसे ज़्यादा अंक मिले उनमें मंगल (0.70 अंक) और बुध (0.60 अंक) हैं। जबकि उन ग्रहों या चंद्रमाओं में जो पृथ्वी की तरह तो नहीं हैं लेकिन फिर भी वहां जीवन हो सकता है, सबसे अधिक 0.64 अंक मिले शनि के चंद्रमा टाइटन को, दूसरे मंगल (0.59 अंक) को और तीसरे बृहस्पति (0.47 अंक) को।
नासा के स्पेस टेलिस्कोप केप्लर ने अब तक एक हज़ार ऐसे ग्रहों या चंद्रमाओं का पता लगाया है जहां जीवन पनपने की संभावना हो सकती है। उनका कहना है कि भविष्य में जो टेलिस्कोप बनेंगे, उनमें ये क्षमता भी होगी कि वह किसी ग्रह में जैविक पदार्थों से निकलने वाली रौशनी को पहचान सके। उदाहरण के तौर पर क्लोरोफ़िल की उपस्थिति जो किसी भी पेड़-पौधे में मौजूद अहम तत्व होता है।

पृथ्वी से समानता सूचकांक

पृथ्वी -                1.00
ग्लीज़ 581जी -    8.89
ग्लीज़ 581डी -     0.74
ग्लीज़ 581सी -    0.70
मंगल -                0.70
बुध -                   0.60
एचडी 69830 -     0.60
55 सीएनसी सी - 0.56
चंद्रमा -               0.56
ग्लीज़ 581 -      0.53

जीवन पनपने की संभावना सूचकांक

टाइटन -             0.64
मंगल -               0.59
यूरोपा -              0.49
ग्लीज़ 581जी -   0.45
ग्लीज़ 581डी -    0.43
ग्लीज़ 581सी -   0.41
वृहस्पति -          0.37
शनि -                0.37
शुक्र -                 0.37
एन्सेलैड्स -       0.35

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें