समर्थक

सोमवार, 3 मई 2010

आंखें खोलकर देखो,एलियंस यहीं हैं : कनाडा के पूर्व रक्षा मंत्री

एलियंस के वजूद और धरती को उनके संपर्क से बचाने की महान एस्ट्रोफिजिसिस्ट स्टीफन हॉकिंग की सलाह पर दुनियाभर में एक नई बहस छिड़ चुकी है। लेकिन कनाडा के पूर्व रक्षामंत्री पॉल हेलर ने हॉकिंग पर आरोप लगाया है कि वो एलियंस के वजूद और उनके खतरे को लेकर गलतफहमी फैला रहे हैं। पूर्व रक्षामंत्री हेलर का दावा है कि एलियंस तो दशकों से धरती पर आते रहे हैं। उनका कहना है कि मानवता को नुकसान पहुंचाने के बजाय एलियंस स्पेसशिप्स से हमें नई टेक्नोलॉजी सीखने को मिली है और आज की माइक्रोचिप और सूचना तकनीक की क्रांति इसी मेलजोल का नतीजा है।
पूर्व रक्षामंत्री पॉल हेलर ने कनाडाई प्रेस में दावा किया है कि एलियंस के बारे में स्टीफन हॉकिंग जो कह रहे हैं, हकीकत इससे ठीक उलट है। एलियंस दशकों और शायद शताब्दियों पहले से धरती पर आते-जाते रहे हैं और मानव के ज्ञान-विज्ञान के विकास में उन्होंने बहुत महत्वपूर्ण योगदान दिया है। हेलर का कहनाहै कि हमारे कंप्यूटर स्क्रीन्स दरअसल एलियन स्पेसशिप की टेक्नोलॉजी हैं। उन्होंने दावा किया है कि इसके अलावा माइक्रोचिप्स, फाइबर-ऑप्टिक्स जैसी टेक्नोलॉजी हमने एलियंस के उन स्पेसशिप्स से हथियाई है, जो धरती पर किन्हीं वजहों से दुर्घटनाग्रस्त हो गए।
कनाडा के पूर्व रक्षामंत्री ने हॉकिंग पर आरोप लगाया है कि एलियंस को लेकर वो लोगों को बेवजह डरा रहे हैं। हेलर ने इस बात को लेकर हैरानी जताई कि आखिर स्टीफन हॉकिंग अपनी प्रतिष्ठा के खिलाफ जाकर इस तरह की ऊल-जलूल बात किस तरह कर सकते हैं। उन्होंने कहा है कि मैं इसे बेहद दुर्भाग्यपूर्ण समझता हूं कि इतने ऊंचे कद का एक वैज्ञानिक एक बेहद गंभीर और महत्वपूर्ण विषय के बारे में केवल गलतफहमी फैलाने में लगा है

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें