समर्थक

शुक्रवार, 19 जून 2009

भारत और जापान का पहला साझा स्पेस मिशन

एशिया की दो महाशक्तियां भारत और जापान पहली बार साथ मिलकर एक संयुक्त स्पेस रिसर्च प्रोजेक्ट में काम कर रहे हैं। इसके तहत इस साल अंतरिक्ष के जीरो ग्रैविटी के माहौल में पौधों को उगाने का प्रयोग किया जाएगा। जापान की समाचार एजेंसी से मिली खबर के मुताबिक इस साल अक्टूबर में भारत और जापान अपने साझा अंतरिक्ष अभियान के तहत एक छोटा सेटेलाइट अंतरिक्ष भेजेंगे। ये सेटेलाइट अपने साथ जापान के खास लैबोरेट्री उपकरण अंतरिक्ष ले जाएगा और करीब 600 किलोमीटर ऊंची अपनी कक्षा में करीब एक हफ्ते तक पृथ्वी की परिक्रमा करेगा।
जापान की स्पेस एजेंसी जाक्सा के प्रोफेसर नोरियाकी इशियोका ने बताया कि अंतरिक्ष में फोटोसेंथेसिस की प्रक्रिया का अध्ययन करना ही भारत के साथ इस संयुक्त मिशन का मकसद है। इसके तहत हम अंतरिक्ष में एक खास किस्म की एल्गी यानि काई के उगने का अध्ययन करेंगे। भारत और जापान के इस संयुक्त प्रोजेक्ट से स्पेस फॉर्मिंग, यानि अंतरिक्ष में खेती के शोध को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी।
उधर इसरो के चेयरमैन जी माधवन नायर ने बताया कि हम अपना अगला सेटेलाइट ओशन सैट जुलाई-अगस्त तक लांच करेंगे। उन्होंने बताया कि ओशन सैट की मदद से हमें समुद्री सतह, समुद्री धाराओं के साथ वायु धाराओं और मछली पकड़ने के नए इलाकों का पहचान भी की जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें