समर्थक

सोमवार, 21 जून 2010

केप्लर से ‘खुशखबरी !’

स्पेस साइंस में दिलचस्पी रखने वाला हर कोई मिशन केप्लर से आने वाली ‘खुशखबरी’ का इंतजार कर रहा है। खुशखबरी ये कि हमें अपने सौरमंडल से बाहर एक दूसरी पृथ्वी का पता कब मिलता है। नासा की ये स्पेस ऑब्जरवेटरी दूसरी धरती को तलाशने में जुटी है। आकाश के एक खास हिस्से में, 1,56,000 सितारों के झुरमुट के बीच काम शुरू करने के महज 43 दिन के भीतर ही केप्लर ने 706 ऐसे सितारों की पहचान कर ली है, जहां कोई दूसरी दुनिया यानि नया ग्रह मौजूद हो सकता है।
अब आगे का काम धरती पर मौजूद ऑब्जरवेटरीज करेंगी, जो केप्लर स्पेस ऑब्जरवेटरी की इस खोज की पुष्टि करेंगी। अब तक हमने औरमंडल के बाहर 400 नए ग्रहों की खोज की है। खास बात ये कि अगर केप्लर की खोज की पुष्टि हो जाती है तो नए ग्रहों के बारे में हमारी जानकारी करीब तीन गुना तक बढ़ जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें