समर्थक

सोमवार, 21 जून 2010

क्या एलियन्स ने धावा बोल दिया ?

मशहूर साइंस फिक्शन उपन्यास वॉर आफ द वर्ल्डस में एच.जी. वेल्स लिखते हैं कि धरती पर गिरने वाली बिजलियों जैसी चमकदार किरणों की मदद से मंगल ग्रह के हमलावर धरती पर आ रहे हैं। ये तस्वीर भी क्या कुछ ऐसी ही नहीं लगती। देखकर लगता है, मानो किसी हॉलीवुड साईफाई फिल्म का कोई स्पेशल एफेक्ट वाला कोई सीन हो।
बादलों को चीरकर एक शहर के बीचोबीच गिरती रोशनी की एक चमकदार किरण। ये नजारा अपने आप में काफी रहस्यमय और रोमांचक सा लगता है। पहली बात तो ये कि ये तस्वीर बनावटी नहीं, बिल्कुल असली है और दूसरी बात ये कि ये किसी फिल्म का सेट या स्पेशल इफेक्ट नहीं है। वाक्या है बार्सिलोना का, जहां रात के वक्त बीच शहर से फूटती रोशनी की इस शानदार बीम का प्रदर्शन किया गया और ये शानदार प्रदर्शन किया है जापान के कलाकार र्योजी इकेडा ने। इस रोमांचक प्रदर्शन के लिए इकेडा ने एक सी रोशनी वाली 64 अलग-अलग किरणों का इस्तेमाल किया। रोशनी की ये किरणें जब बार्सिलोना के आसमान पर छाए बादलों से टकराईं तो वहां एक नकली चंद्रमा सा बन गया और देखने वालों को लगा कि चंद्रमा से रोशनी की किरण शहर पर गिर रही है। कुछ लोगों को ये भी लगा कि शहर के आसमान पर कोई यूएफओ आ गया है और एलियंस इस रोशनी की बीम की मदद से शहर पर उतर रहे हैं।
इकेडा ने अपने इस प्रदर्शन को स्पेक्ट्रा बार्सिलोना का नाम दिया है और वो ऐसा अनोखा प्रदर्शन जापान के नागोया शहर, नीदरलैंड्स और पेरिस में भी कर चुके हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें