समर्थक

रविवार, 8 मार्च 2009

अंतरिक्ष के डांस प्लोर पर थिरकते ब्लैक होल्स !

दूर गहन अंतरिक्ष में दो ब्लैकहोल एक-दूसरे के आस-पास नाचते दिखाई दिए हैं। बहुत बडे़ आकार वाले इन ब्लैकहोल्स की गुरुत्वाकर्षण शक्ति बहुत ज्यादा है। ये पृथ्वी से पांच अरब प्रकाश वर्ष दूर स्थित हैं। एक प्रकाश वर्ष वह दूरी है जितना प्रकाश की किरण एक साल में तय करती है। अमेरिका के न्यू मेक्सिको स्थित अपाचे पॉइंट अब्जर्वेटरी से मिले आंकडे़ इस अद्भुत घटना के बारे में सबसे बेहतर सबूत पेश करते हैं। एरिजोना की नैशनल ऑप्टिकल एस्ट्रोनॉमी अब्जर्वेटरी के एस्ट्रोनॉमर टॉड बोरोसन के मुताबिक, एक आकाशगंगा या गैलेक्सी के केंद में दो ब्लैकहोल्स का पाया जाना बाइनैरी सिस्टम कहलाता है। बोरोसन कहते हैं कि ये दोनों नाचते ब्लैकहोल भी धीरे-धीरे एक हो जाएंगे और एक बड़ा ब्लैकहोल बना लेंगे। हालांकि, वैज्ञानिकों का मानना है कि एक ही आकाशगंगा में दो ब्लैकहोल पाया जाना एक आम बात है, लेकिन असलियत में ऐसा देखने में कम ही आता है। असल में हम ब्लैकहोल को नहीं देख सकते लेकिन हम उनके असर को देख सकते हैं। इस मामले में भी बोरोसन और लॉयर ने उन चीजों से निकले वाले रेडिएशन को पकड़ा जिन्हें ये ब्लैकहोल अपने भीतर खींच रहे थे। इन दो ब्लैकहोल में एक बड़ा और दूसरा छोटा है। छोटा ब्लैकहोल हमारे सूरज से दो करोड़ गुना बड़ा है, जबकि बडे़ आकार वाला ब्लैकहोल सूरज से एक अरब गुना बड़ा है। बोरोसन के मुताबिक, ये दोनों ब्लैकहोल एक-दूसरे का चक्कर लगाने में लगभग 100 वर्षों का समय लेंगे और ये एक-दूसरे से एक प्रकाश वर्ष के 3/10 की दूरी पर स्थित हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें